Kismat Ki Hawa Kabhi Naram Lyrics

Kismat Ki Hawa Kabhi Naram Lyrics: This is a Old song in the voice of C. Ramchandra. The lyrics of the song are written by Rajendar Krishan while music is given by C. Ramchandra. Featuring Geeta Bali, Bhagwan Dada, Badri Prasad, Sunder, Pratima Devi, Dulari, Bimla Kumari.

O Beta Ji Kismat Ki Hawa Kabhi Naram Lyrics
Kismat Ki Hawa Kabhi Naram Lyrics

Song Details of Kismat Ki Hawa Kabhi Naram

SongO Beta Ji Kismat Ki Hawa Kabhi Naram
SingerC. Ramchandra
MusicC. Ramchandra
LyricsRajendar Krishan
FilmAlbela, 1951

O Beta Ji Kismat Ki Hawa Kabhi Naram Lyrics

कभी काली रतिया, कभी दिन सुहाने
किस्मत की बाते तो किस्मत ही जाने

ओ बेटा जी,
अरे ओ बाबू जी, किस्मत की हव कभी नरम, कभी गरम
कभी नरम-नरम, कभी गरम-गरम,
कभी नरम-गरम नरम-गरम रे
ओ बेटा जी

बड़े अकड़ से बेटा निकले घर से एक्टर होने
वाह री किस्मत, वाह री किस्मत, किस्मत में थे लिखे बरतन धोने
अरे भई लिखे बरतन धोने
ओ बेटा जी, जीने का मज़ा कभी नरम, कभी गरम …

दुनिया के इस चिड़िया घर में तरह तरह का जलवा
मिले किसी को सूखी रोटी, किसी को पूरी हलवा
अरे भई किसी को पूरी हलवा
ओ बेटा जी, खिचड़ी का मज़ा कभी नरम, कभी गरम …

दर्द दिया तो थोड़ा थोड़ा, खुशी भी थोड़ी थोड़ी
वाह रे मालिक, वाह रे मालिक, दुःख और सुख की खूब बनायी जोड़ी
अरे वाह खूब बनायी जोड़ी
ओ बेटा जी, जीवन का नशा कभी नरम, कभी गरम …

You May Also Like These Songs Lyrics

Watch Music of O Beta Ji Kismat Ki Hawa Kabhi Naram

Leave a Comment

x